İstanbul escort bayan sivas escort samsun escort bayan sakarya escort Muğla escort Mersin escort Escort malatya Escort konya Kocaeli Escort Kayseri Escort izmir escort bayan hatay bayan escort antep Escort bayan eskişehir escort bayan erzurum escort bayan elazığ escort diyarbakır escort escort bayan Çanakkale Bursa Escort bayan Balıkesir escort aydın Escort Antalya Escort ankara bayan escort Adana Escort bayan

Thursday, February 22, 2024
Home बस्ती और आसपास एन.पी.एस. की शवयात्रा निकाल शिक्षकों ने मांगी पुरानी पेंशन

एन.पी.एस. की शवयात्रा निकाल शिक्षकों ने मांगी पुरानी पेंशन

बस्ती, 21 अक्टूबर। शनिवार को प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल के नेतृत्व में पुरानी पेंशन बहाल किये जाने की मांग को लेकर बी.एस.ए. कार्यालय पर धरना प्रदर्शन के बाद एन.पी.एस. की अर्थी निकाली गई। पदयात्रा करते हुये शिक्षक शास्त्री चौक पर पहुंचे, उप जिलाधिकारी गुलाब चंद्रा को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री तथा उ.प्र. के राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा गया।

महिला शिक्षक शव यात्रा को कंधे पर लेकर आगे-आगे चल रही थी। जिला संयुक्त मंत्री विजय प्रकाश चौधरी ने चिता को विधि विधान से मंत्रों के बीच आग लगाई। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि पुरानी पेंशन शिक्षकां, कर्मचारियों का अधिकार है। सरकार हठवादिता छोड़ इसे व्यापक हित में तत्काल प्रभाव से लागू करे। बीएसए कार्यालय पर आयोजित धरने को सम्बोधित करते हुये जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि पेंशन बुढापे की लाठी है। एनपीएस प्रणाली शिक्षकों, कर्मचारियों के साथ विश्वासघात है। वक्ताओं ने कहा कि वर्ष 2005 में लागू की गई एन.पी.एस. व्यवस्था की दुर्दशा बयान नहीं किया जा सकता।

19 वर्ष के बाद भी समय से न तो खाते खुले और न ही कटौतियां सुव्यवस्थित ढंग से हुई। दोष पूर्ण व्यवस्था के कारण अधिकारी, कर्मचारी, शिक्षक आर्थिक, मानसिक उत्पीड़न झेल रहे हैं, आकस्मिक, दैवीय घटना होने पर परिवार का भविष्य सुरक्षित नहीं रह गया है। एनपीएस की सबसे बड़ी आपत्ति अधिकारी, कर्मचारी, शिक्षक के हजारों करोड़ की धनराशि शेयर मार्केट, म्यूचुअल फण्ड एवं अन्य वित्तीय संस्थाओं के बाण्ड में निवेश किया जा रहा है। उसके आय व परिणामों के आधार पर पेंन्शन निर्धारित होगी। हर्षद मेहता सहित शेयर बाजार आदि में हुये अनेकों घोटालों को देश जानता है। सरकार द्वारा एनपीएस में पेंशन भुगतान की गारण्टी भी नहीं दिया गया है।

सर्वोच्च न्यायालय के पूर्ण पीठ ने अपने निर्णय में कहा है कि कर्मचारियों की पेंशन भीख नहीं है, बल्कि उनका अधिकार है। पुरानी पेंशन की बहाली कोई नई मांग नहीं है। सेवानिवृत्त के पश्चात जीवन यापन हेतु हमसे और हमारे परिवार से छीनी गई सुविधा को वापस दिलाया जाय। उन्होने आवाहन किया कि अपने अधिकारों के लिये सजग हो वरना सरकार एक-एक कर अधिकार छीन लेगी। कहा कि पेंशन प्राप्त करना कर्मचारियों का विधिक अधिकार है। बताया कि देश के कर्मचारी, शिक्षक परिवार, रिश्तेदार, हितैषियों सहित पोस्टकार्ड पर ओ.पी.एस. बहाल करो लिखकर प्रधानमंत्री को भेजेंगे। 20, 21, 22, 23 नवम्बर को सभी शिक्षक कर्मचारियों से पुरानी पेंशन के लिये संयुक्त मंच द्वारा घोषित होने वाले महा हड़ताल में प्रतिभाग करने हेतु वोटिंग कराया जायेगा।

वक्ताओं ने कहा कि देश में ही हिमांचल प्रदेश सहित अनेक राज्यों में पुरानी पेंशन योजना बहाल कर दी गई है। इसे देखते हुये केन्द्र की सरकार व्यापक हितों को देखते हुये समूचे देश के शिक्षकों, कर्मचारियों के लिये इसे लागू करें अन्यथा चरणबद्ध ढंग से आर-पार का संघर्ष जारी रहेगा। शिक्षकों ने कहा कि शिक्षक और कर्मचारियों के लिये पुरानी पेंशन बुढापे की लाठी है। कई राज्य सरकारों ने इसे लागू भी कर दिया है किन्तु केन्द्र की सरकार इस दिशा में गंभीर नही है। कहा कि जब तक पुरानी पेंशन बहाल नहीं हो जाती चरणबद्ध ढंग से आन्दोलन जारी रहेगा। पेंशन शिक्षकों, कर्मचारियों का अधिकार है, इसे लेकर रहेंगे। कहा कि पुरानी पेंशन लागू करना ही होगा। इसके लिये शिक्षक और कर्मचारी हर स्तर के संघर्ष के लिये तैयार रहें। यदि अभी न चेते तो बुढापे में चौतरफा संकट झेलना होगा। धरना, प्रदर्शन और पद यात्रा में हजारों की संख्या में शिक्षक शामिल रहे।

RELATED ARTICLES

सदर विधायक महेन्द्र यादव ने विधानसभा में उठाये जनहित के मुद्दे

बस्ती। सदर विधायक महेन्द्रनाथ यादव ने बजट सत्र के दौरान शिक्षा मित्रों को स्थायी शिक्षक बनाने, ओ.बी.सी. को नियुक्तियों में आरक्षण का...

शिक्षकों की बैठक में बनी महा हड़ताल की रणनीति, यूपी के बजट में शिक्षकों की घोर उपेक्षा-विजय प्रकाश

बस्ती। बुधवार को बीआरसी सल्टौआ सभागार में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक सम्पन्न हुई। संघ के जिला संयुक्त मंत्री विजय...

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के पदाधिकारियों ने ली पत्रकार हितों में कार्य करने की शपथ

बस्ती। बुधवार को श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के बस्ती शाखा के पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण समारोह प्रेस क्लब सभागार में सम्पन्न हुआ। वरिष्ठ...

यूपी के बजट में महिलाओं की घोर उपेक्षा- वंदना

बस्ती, 07 फरवरी। अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति (एडवा) के जिला कमेटी की बैठक जिलाध्यक्ष वंदना के नेतृत्व में न्यायमार्ग स्थित कार्यालय...

चन्द्रगुप्त मौर्य प्रभावंश महिला कालेज में धूमधाम गणतंत्र दिवस पर छात्राओं ने दी मनमोहक प्रस्तुति

बनकटी, बस्ती। बनकटी ब्लाक मुख्यालय पर स्थित चन्द्रगुप्त मौर्य प्रभावंश महिला पीजी कालेज तथा सम्राट अशोक गर्ल्स...

प्रसूता की मौत मामले में डीएम को सौंपा ज्ञापन, न्याय की मांग

बस्ती। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लौहरौली में प्रसूता की लापरवाही से मौत का मामला गरमाता जा रहा है। भारत मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष...

डीएम अंद्रा वामसी ने दिलाई मतदाता जागरूकता की शपथ

बस्ती 24 जनवरी। राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी, जिला निर्वाचन अधिकारी अंद्रा वापसी ने उपस्थित लोगों को मतदाता जागरूकता की...

अनियंत्रित वाहन की चपेट में आने से घायल युवक की इलाज के दौरान मौत

रुधौली, बस्ती (अनूप बरनवाल) थाना क्षेत्र के नसीबगंज चौराहे पर रविवार की शाम एक अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक...

चित्रांश क्लब ने सुबाष चन्द्र बोस को याद किया

बस्ती, 23 जनवरी। चित्रांश क्लब ने स्वतंत्रता आन्दोलन के महानायक सुबाष चन्द्र बोस को उनकी जयंती अवसर पर याद किया। जिलाध्यक्ष अविनाश...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सरकार बेनकाब, इलेक्टोरेल बाण्ड पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

नेशनल डेस्कः सुप्रीम कोर्ट द्वारा केंद्र सरकार की 6 साल पुरानी इलेक्टोरल बॉन्ड स्कीम पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा देने से...

सिस्टम में लगा रिश्वतखोरी का रोग, सरकार नाकाम

किसी भी व्यवस्था में यदि रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार का रोग लग जाए तो वह न तो स्वस्थ रह सकती है और न...

कांग्रेस के फ्रीज़ बैंक खातों पर रोक हटी, भड़के कांग्रेसी

नेशनल डेस्कः दो महीने बाद देश में लोकसभा चुनाव है। राजनीतिक दल अब अपना चुनावी एजेण्डा लेकर जनता के बीच जाने की...

आदित्यनाथ योगी को प्रधानमंत्री बनने तक नंगे पैर रहेंगे गोल्डन बाबा, अपना धन लगाकर करेंगे प्रचार

यूपी डेस्कः कानपुर के चर्चित गूगल गोल्डन बाबा ने अनोखा प्रण लिया है जो बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है। सोने,...

सदर विधायक महेन्द्र यादव ने विधानसभा में उठाये जनहित के मुद्दे

बस्ती। सदर विधायक महेन्द्रनाथ यादव ने बजट सत्र के दौरान शिक्षा मित्रों को स्थायी शिक्षक बनाने, ओ.बी.सी. को नियुक्तियों में आरक्षण का...

शिक्षकों की बैठक में बनी महा हड़ताल की रणनीति, यूपी के बजट में शिक्षकों की घोर उपेक्षा-विजय प्रकाश

बस्ती। बुधवार को बीआरसी सल्टौआ सभागार में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक सम्पन्न हुई। संघ के जिला संयुक्त मंत्री विजय...

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के पदाधिकारियों ने ली पत्रकार हितों में कार्य करने की शपथ

बस्ती। बुधवार को श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के बस्ती शाखा के पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण समारोह प्रेस क्लब सभागार में सम्पन्न हुआ। वरिष्ठ...

यूपी के बजट में महिलाओं की घोर उपेक्षा- वंदना

बस्ती, 07 फरवरी। अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति (एडवा) के जिला कमेटी की बैठक जिलाध्यक्ष वंदना के नेतृत्व में न्यायमार्ग स्थित कार्यालय...
- Advertisment -