İstanbul escort bayan sivas escort samsun escort bayan sakarya escort Muğla escort Mersin escort Escort malatya Escort konya Kocaeli Escort Kayseri Escort izmir escort bayan hatay bayan escort antep Escort bayan eskişehir escort bayan erzurum escort bayan elazığ escort diyarbakır escort escort bayan Çanakkale Bursa Escort bayan Balıkesir escort aydın Escort Antalya Escort ankara bayan escort Adana Escort bayan

Thursday, February 22, 2024
Home समाचार प्रादेशिक डेंगू के छह लक्षणों में कोई भी नजर आए तो सीधे अस्पताल...

डेंगू के छह लक्षणों में कोई भी नजर आए तो सीधे अस्पताल जाएं

गोरखपुर, 16 मई। छह ऐसे लक्षण हैं जो सामान्यता डेंगू में नजर आते हैं। अगर इन लक्षणों को दिखते ही अस्पताल पहुंच जाएं तो समय से जांच व इलाज से डेंगू ठीक हो जाता है। लक्षणों के प्रति लापरवाही और अपने मन से दवा खाने के कारण ही डेंगू से जटिलताएं बढ़ती हैं। यह जानकारी राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी बेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम डॉ एके चौधरी ने राजकीय एडी कन्या इंटर कॉलेज में छात्राओं और शिक्षकों के जनजागरूकता कार्यक्रम के दौरान दिया।

उन्होंने बताया कि लक्षण दिखने पर जांच के संदेश और बीमारी से बचाव के चार उपायों की जानकारी के साथ जिले भर में सीएमओ डॉ आशुतोष कुमार दूबे के दिशा निर्देशन में विभिन्न जनजागरूकता कार्यक्रमों के आयोजन किये गये। जिला मलेरिया अधिकारी और मलेरिया निरीक्षकों की टीम ने विकास भवन सभागार, भटहट, शाहपुर, जटेपुर, शेषपुर और बसन्तपुर में भी जाकर लोगों को डेंगू के बारे में जागरूक किया। डॉ चौधरी ने बताया कि डेंगू का सबसे सामान्य लक्षण आंखों के पीछे तेज दर्द होना है जो आंखों को घुमाने से और भी बढ़ जाता है।

अचानक तेज सिरदर्द व तेज बुखार, मांसपेशियों तथा जोड़ो में दर्द, जी मिचलाना व उल्टी होना, त्वचा पर चकत्ते उभरना और गंभीर स्थिति में नाक, मुंह व मसूड़ों से खून आना डेंगू का लक्षण है। इन लक्षणों के आधार पर जांच व इलाज की सुविधा सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध है। समय से अस्पताल पहुंचने पर भर्ती कराने की भी आवश्यकता नहीं पड़ती और मरीज घर पर आराम करते हुए दवाओं के सेवन से ठीक हो जाता है। जिला मलेरिया अधिकारी अंगद सिंह ने कार्यक्रम के दौरान डेंगू से बचाव के चार उपायों के बारे में जानकारी।

उन्होंने बताया कि कूलर, पानी की टंकी, पक्षियों के पीने के पानी का बर्तन, फ्रिज की बैक ट्रे, फूलदान आदि को हफ्ते में एक बार खाली करके धूप में सुखाएं और तभी प्रयोग करें। नारियल का खोल, टूटे बर्तन व टायरों में पानी जमा न होने दें। घरों के दरवाजे व खिड़कियों में जाली या परदे लगाएं। पूरी बांह के कपड़े, पैर में मोजे पहने और दिन में भी सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें। श्री सिंह ने बताया कि डेंगू बीमारी एडिज नामक मच्छर के काटने से होती है। यह मच्छर सामान्यता दिन में काटता है और इसे पनपने के लिए एक चम्मच साफ पानी का ठहराव भी काफी होता है। If you see any of the six symptoms of dengue, go straight to the hospital.

अगर इन मच्छरों से बचाव किया जाए तो डेंगू का प्रसार भी रोका जा सकता है और समय से इलाज करा कर इसकी जटिलताओं पर भी नियंत्रण किया जा सकता है। अगर गर्भवती, ह््रदय रोगी, उच्च रक्तचाप रोगी और मधुमेह रोगी में डेंगू के लक्षण दिखें तो और अधिक सतर्कता की आवश्यकता है और ऐसे व्यक्ति का इलाज विशेषज्ञ चिकित्सक की देखरेख में ही होना चाहिए। इस मौके पर प्रश्नोत्तरी के जरिये करीब 250 छात्राओं को जागरूक किया गया। सहायक मलेरिया अधिकारी राजेश चौबे, कॉलेज की प्रधानाचार्य किरणमयी तिवारी, शिक्षिका स्नेहलता सिंह, शिखा त्रिपाठी और बिंदेश्वरी पांडेय ने कार्यक्रम में विशेष सहयोग किया।

पूरे बांह के कपड़े पहने

कक्षा 12वीं की छात्रा शिन्की राय ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान मच्छरों और डेंगू से बचाव के बारे में सवाल पूछे गये। जवाब में मैंने बताया कि मच्छरों से बचाव के लिए पूरे बांह के कपड़े पहनने हैं। कहीं भी साफ पानी जमा नहीं होने देना है। अगर बुखार होता है तो तत्काल चिकित्सक से परामर्श लेना है। डेंगू के लक्षणों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।

2016 से मनाया जाता है दिवस

जिला मलेरिया अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2016 से प्रत्येक 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य मच्छरों का संचरण चक्र तोड़ना और प्रजनन तंत्र को नियंत्रित करने में सामुदायिक सहयोग प्राप्त करना है । इस साल के डेंगू दिवस की थीम है-डेंगू को हराने के लिए समझदारी का उपयोग करें। इस थीम का उद्देश्य डेंगू की रोकथाम में अन्य विभागों और जनता का अपेक्षित सहयोग प्राप्त करना है।

पांच वर्षों में सर्वाधिक केस

पांच वर्षों में डेंगू के सर्वाधिक कंफर्म 318 केस वर्ष 2022 में निकले। प्रत्येक केस का सर्विलांस किया गया जिसका नतीजा रहा कि डेंगू के कारण कोई भी मृत्यु नहीं हुई। 56135 सोर्स रिडक्शन किये गये जिनमें सबसे ज्यादा कूलर, गमले और टायर ही थे। 204 लोगों को नोटिस भी दी गयी थी। इस वर्ष में अब तक डेंगू के दो कंफर्म केस मिल चुके हैं। डॉक्टर आशुतोष कुमार दूबे, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

RELATED ARTICLES

आदित्यनाथ योगी को प्रधानमंत्री बनने तक नंगे पैर रहेंगे गोल्डन बाबा, अपना धन लगाकर करेंगे प्रचार

यूपी डेस्कः कानपुर के चर्चित गूगल गोल्डन बाबा ने अनोखा प्रण लिया है जो बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है। सोने,...

30 फिट नीचे नदी में गिरी, 4 दोस्तों की मौत, एक गंभीर

बिजनौर, उ.प्र. (फैसल खान) मंगलवार देर रात तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर रामगंगा नदी पुल की रेलिंग तोड़ते हुए 0 फीट नीचे...

बेखौफ बदमाशों ने दरोगा को मारी गोली, हालत गंभीर

यूपी डेस्कः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रोज यह दावा करते हैं कि गुण्डों को उन्होने जेल भेज दिया है। जबकि यूपी में गुण्डई...

रिश्वत लेते धरा गया लेखपाल संघ का अध्यक्ष

यूपी डेस्कः उ.प्र. सरकार रिश्वतखोरी पर लगाम लगाने में नाकाम है। इमेज यह है कि सरकार बहुत इमानदार है और सरकार के...

विधायक शलभ मणि त्रिपाठी और एस.पी. देवरिया के बीच 36 का आंकड़ा

देवरिया ब्यूरो, (ओपी श्रीवास्तव) देवरिया जिले में सदर विधायक शलभ मणि त्रिपाठी एवं पुलिस अधीक्षक के बीच सम्भवतः 36 का आंकड़ा हो...

वाहन चेकिंग के दौरान कार से 2 करोड़ कैश बरामद, ओनर नही दे सका करेंसी का हिसाब

यूपी डेस्कः मथुरा के थाना मांट की टोल चौकी पुलिस ने यमुना एक्सप्रेस वे पर चल रही वाहन चैकिंग के दौरान चैकिंग...

सहारा हॉस्पिटल का हुआ सौदा, निवेशकों के अरबों रूपये का कोई माई बाप नहीं

यूपी डेस्कः सहारा ग्रुप के चेयरमैन दुनिया से चले गये। कम्पनी में अरबों रूपया निवेशकों का फंसा है। उसका कोई माई बाप...

पूर्व विधानसभा हरदोई प्रत्याशी शोभित पाठक बसपा छोड़ कांग्रेस में शामिल

लखनऊ, 08 दिसंबर। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की नीतियों एवं उसकी समावेशी विचारधारा में आस्था व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर पूर्व...

17 साल की लड़की के साथ गैंगरेप, आरोपियों को पकड़कर ग्रामीणों ने की कुटाई

यूपी डेस्कः बाराबंकी में बुधवार की दोपहर 2 बजे दो युवकों ने झोपड़ी में घुसकर एक लड़की से गैंगरेप किया। गांव वालों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सरकार बेनकाब, इलेक्टोरेल बाण्ड पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

नेशनल डेस्कः सुप्रीम कोर्ट द्वारा केंद्र सरकार की 6 साल पुरानी इलेक्टोरल बॉन्ड स्कीम पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा देने से...

सिस्टम में लगा रिश्वतखोरी का रोग, सरकार नाकाम

किसी भी व्यवस्था में यदि रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार का रोग लग जाए तो वह न तो स्वस्थ रह सकती है और न...

कांग्रेस के फ्रीज़ बैंक खातों पर रोक हटी, भड़के कांग्रेसी

नेशनल डेस्कः दो महीने बाद देश में लोकसभा चुनाव है। राजनीतिक दल अब अपना चुनावी एजेण्डा लेकर जनता के बीच जाने की...

आदित्यनाथ योगी को प्रधानमंत्री बनने तक नंगे पैर रहेंगे गोल्डन बाबा, अपना धन लगाकर करेंगे प्रचार

यूपी डेस्कः कानपुर के चर्चित गूगल गोल्डन बाबा ने अनोखा प्रण लिया है जो बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है। सोने,...

सदर विधायक महेन्द्र यादव ने विधानसभा में उठाये जनहित के मुद्दे

बस्ती। सदर विधायक महेन्द्रनाथ यादव ने बजट सत्र के दौरान शिक्षा मित्रों को स्थायी शिक्षक बनाने, ओ.बी.सी. को नियुक्तियों में आरक्षण का...

शिक्षकों की बैठक में बनी महा हड़ताल की रणनीति, यूपी के बजट में शिक्षकों की घोर उपेक्षा-विजय प्रकाश

बस्ती। बुधवार को बीआरसी सल्टौआ सभागार में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक सम्पन्न हुई। संघ के जिला संयुक्त मंत्री विजय...

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के पदाधिकारियों ने ली पत्रकार हितों में कार्य करने की शपथ

बस्ती। बुधवार को श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के बस्ती शाखा के पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण समारोह प्रेस क्लब सभागार में सम्पन्न हुआ। वरिष्ठ...

यूपी के बजट में महिलाओं की घोर उपेक्षा- वंदना

बस्ती, 07 फरवरी। अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति (एडवा) के जिला कमेटी की बैठक जिलाध्यक्ष वंदना के नेतृत्व में न्यायमार्ग स्थित कार्यालय...
- Advertisment -